Advertisement B.Com 3rd Year MCQ – Principles Of Marketing B.Com Multiple Choice Questions

Advertisement B.Com 3rd Year MCQ  Principles Of Marketing B.Com Multiple Choice Questions :- This Post has Study Notes Of All Subject of BCOM 1st 2nd 3rd Year Study Material Notes Sample Model Practice Question Answer Mock Test Paper Examination Papers Notes Download Online Free PDF This Post Contains All Subjects Like BCOM 3rd Year Corporate Accounting, Auditing, Money and financial System, Information Technology and its Application in Business, Financial Management, Principle of Marketing, E-Commerce, Economic Laws, Unit Wise Chapter Wise Syllabus B.COM Question Answer Solved Question Answer papers Notes Knowledge Boosters To illuminate The learning.



बहुविकल्पीय प्रश्न

  1. “विज्ञापन को वस्तु या सेवा की माँग उत्पन्न करने की कला कहा जा सकता है।” यह कथन है-

(अ) सी० एल० बोलिंग का , 

(ब) जी० बी० गाइल्स का 

(स) फ्रेंक प्रेसबरे का

(द) इनमें से कोई नहीं 

2.”विज्ञापन मुद्रण के रूप में विक्रय कला है।” परिभाषित किया है-

(अ) फिलिप कोटलर ने

(ब) लस्कर ने 

(स) एल्डरसन ने ,

(द) कन्डिफ ने 

  1. विज्ञापन है-

(अ) धन की बर्बादी

(ब) शक्ति की बर्बादी 

(स) समय की बर्बादी

(द) विनियोग । 

  1. अच्छी विज्ञापन की प्रतिलिपि के आवश्यक तत्त्व हैं

(अ) ध्यानाकर्षण तत्त्व

(ब) सुझाव तत्त्व 

(स) स्मरण तत्त्व 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विज्ञापन है

(अ) कला

(ब) विज्ञान 

(स) कला एवं विज्ञान दोनों । 

(द) इनमें से कोई नहीं 

  1. बाह्य विज्ञापन में सम्मिलित हैं

(अ) समाचार पत्रीय विज्ञापन

(ब) पत्रिका विज्ञापन 

(स) फोल्डर्स 

(द) पोस्टर्स तथा होर्डिंग्स ।

  1. निम्नलिखित में से कौन बाह्य विज्ञापन का साधन है-

(अ) दीवार लेखन

(ब) विधुत साइन बोर्ड

(स) सैण्डविच बोर्ड विज्ञापन 

(द) यह सभी

  1. कौन सा कथन सही है?

(अ) विज्ञापन पर किया गया व्यय धन का अपव्यय है 

(ब) विज्ञापन उत्पादन की लागत बढ़ाता है 

(स) विज्ञापन ग्राहकों को सदैव गुमराह करता है

(द) विज्ञापन ग्राहकों के ज्ञान में वृद्धि करता है। 

  1. अच्छी विज्ञापन की प्रतिलिपि के आवश्यक तत्व क्या हैं।

(अ) भावात्मक तत्व 

(ब) सुझावात्मक तत्व 

(स) स्मरण तत्व

(द) उपरोक्त सभी

  1. विज्ञापन की प्रभावोत्पादकता के मूल्यांकन की विधि कौन-सी नहीं है?

(अ) स्मृति परीक्षण 

(ब) सम्मति अनुसंधान 

(स) जानकारी सर्वेक्षण

(द) लागत सर्वेक्षण

  1. “विज्ञापन के बाह्य माध्यम का जीवन है-

(अ) अति सीमित

(ब) सीमित

(स) दीर्घकालीन

(द) उपरोक्त में से नहीं

  1. विज्ञापन बिना वैयक्तिक विक्रयकर्ता के विक्रय कला है।” परिभाषित किया है-

(अ) स्टाण्टन ने

(ब) रिचार्ड बुसकिर्क

(स) मैसन व रथ ने ।

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. विज्ञापन का उद्देश्य हैंं-

(अ) ब्राण्ड वरीयता बनाना 

(ब) उपभोक्ताओं को क्रय करने के लिये प्रेरित करना

(स) क्रेता को विचारयुक्त बनाना

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विज्ञापन बजट निर्धारण का ढंग है-

(अ) विक्रय प्रतिशत विधि

(ब) क्षमतानुसार विधि

(स) प्रतिस्पर्धा समता विधि

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. निम्नलिखित में से कौन-सा विज्ञापन का साधन है?

(अ) रेडियों एवं टेलीविजन

(ब) प्रदर्शन की

(स) उपहार या भेंट

(द) उपरोक्त सभी 

16.”विज्ञापन एजेन्सियाँ विज्ञापन विशेषज्ञों के संगठन हैं।” परिभाषित किया है-

(अ) रोजर बार्टर

(ब) स्टेण्टन 

(स) फिलिप कोटलर

(द) रिचर्ड बुसकिर्क 

  1. किसी भी विज्ञापन का पहला लक्ष्य है-

(अ) प्रभावी सम्प्रेषण ।

(ब) विनिमय प्रोत्साहन 

(स) बिक्री बढ़ाना

(द) ग्राहक सन्तुष्टि को बढ़ाना 

  1. जब आपने उत्पाद का प्रदर्शन करना है तो आप विज्ञापनबाजी के किस माध्यम का प्रयोग करेंगे? 

(अ) प्रकाशन

(ब) रेडियो

(स) टी० वी०

(द) सीधे डाक 

  1. विज्ञापनबाजी, विक्रय-संवर्धन, जन-सम्पर्क तथा प्रचार ………की किस्में हैं-

(अ) लोक-बिक्री

(ब) वैयक्तिक बिक्री 

(स) अवैयक्तिक बिक्री ।

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. DAGMAR का अर्थ है-

(अ) नये उत्पाद की प्रस्तुति

(ब) विज्ञापन 

(स) विक्रय संवर्धन

(द) मूल्यकरण 

  1. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य नहीं है

(अ) प्रचार विज्ञापन से अधिक विश्वसनीय है 

(ब) प्रचार विज्ञापन से अधिक वस्तुपूरक है। 

(स) प्रचार एक भुगतान युक्त रूप है। 

(द) विज्ञापन की तुलना में प्रचार में सन्देश पर कम नियन्त्रण होता है

  1. जानकारी→ रुचि मुल्यांकन परीक्षण→ अपनाना है-

(अ) AIDA मॉडल

(ब) नवप्रवर्तन अपनाना मॉडल।

(स) घनिष्ठ प्रभाव मॉडल 

(घ) उपर्युक्त में कोई नहीं

  1. DAGMAR का अर्थ है-

(अ) विज्ञापनबाजी का लक्ष्य निर्धारित करना तथा परिणामों को मापना । 

(ब) कृषि-विपणन को परिभाषित करना

(स) परिमित विज्ञापन परिणामों के लिए विज्ञापन के लक्ष्य परिभाषित करना 

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं

  1. DAGMARA……की परिकल्पना सबसे पहले ……….ने विकसित की-

(अ) ए०एच० मोसलो 

(ब) इ० एच० बुरैक

(स) रस्सेल एच० कूल

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं

  1. इश्तहार, पट विज्ञापन, विद्युत-प्रदर्शन, विद्युत संकेत तथा दीवार पर चित्रकारी ने आरक्षित हैं-

(अ) घर के अन्दर विज्ञापन माध्यम 

(ब) बाह्य विज्ञापन माध्यम। 

(स) सीधा विज्ञापन माध्यत

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. प्रक्षेपक जो वस्तुओं को एक पर्दे पर इतनी तेजी से चित्रित कर सकता है कि देखो सन्देश प्राप्त नहीं कर पाते, को कहते हैं-

(अ) साइकोगैलवोनामीटर

(ब) आँख-कैमरा 

(स) टैकिस्टोकोप .

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. पहचान परीक्षण, पुनर्पति परीक्षण, दृष्टिकोण परीक्षण तथा बिक्री परीक्षण के दौरान होता है-

(अ) पूर्व-परीक्षण विज्ञापनबाजी 

(ब) उत्तर-परीक्षण विज्ञापनबाजी ? 

(स) उपर्युक्त दोनों,

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. ‘POP’ का अर्थ है-

(अ) क्रय-स्थल ।

(ब) उत्पाद का क्रय 

(स) क्रय-शक्ति

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. एक प्रतियोगी के संवर्धनात्मक कार्यक्रम के प्रभाव को न्यूनतम करने के लिए विज्ञापनबाजी हैं…..

(अ) स्मरण विज्ञापनबाजी

(ब) सुरक्षात्मक विज्ञापनबाजी । 

(स) प्रबलन विज्ञापनबाजी 

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं

  1. विज्ञापन प्रभावीपन को मापने के कार्यक्रम के दौरान एक विज्ञापन कार्यक्रम में कुछ तथ्या का किया गया परीक्षण……….के नाम से जाना जाता है

(अ) पूर्व-परीक्षण

(ब) उत्तर-परीक्षण 

(स) पूछताछ । 

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं

  1. निम्नलिखित में कौन-सा उत्तर-परीक्षण है जिससे विज्ञापनबाजी का प्रभावीपन मापा जा सकता है-

(अ) पहचान परीक्षण

(ब) सहायता-रहित स्मृति परीक्षण 

(स) सहायता प्राप्त स्मृति परीक्षण 

(द) उपर्युक्त सभी 

  1. विज्ञान एजेन्सी उपयोग करने का लाभ है-

(अ) विशेषज्ञों की राय प्राप्त होना 

(ब) सुव्यवस्थित विज्ञापन कार्यक्रम

(स) बाहरी दृष्टिकोण का पता लगना 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. उपभोक्ता पंच परीक्षण विज्ञापन की प्रभावोत्पादकता को आंकने का ……. वाला तराका हैं-

(अ) पूर्व परीक्षण

(ब) बाद परीक्षण 

(स) साहचर्य परीक्षण

(द) ज्ञान परीक्षण 

  1. विज्ञापन की आलोचना की जाती है क्योंकि

(अ) विज्ञापन में असत्य बातों का उल्लेख किया जाता है 

(ब) उपभोक्ताओं को अनावश्यक वस्तु क्रय करने के लिये प्रेरित करना है 

(स) वस्तु की लागत में वृद्धि हो जाती है।

(द) उपरोक्त सभी। 

  1. विज्ञापन उत्पादकों के दृष्टिकोण से लाशकारी है क्योंकि इससे

(अ) संस्था की ख्याति में वृद्धि होती है 

(ब) माँग में वृद्धि होती है

(स) मध्यस्थ उपलब्ध हो जाते हैं 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विज्ञापन उपभोक्ताओं के लिये लाभकारी होने के पीछे तर्क है

(अ) विज्ञापन उपभोक्ताओं के ज्ञान में वृद्धि करता है 

(ब) उपभोक्ताओं को कम मूल्य पर श्रेष्ठ वस्तुएँ मिलना

(स) वस्तुओं की क्वालिटी में सुधार 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. “विज्ञापन जानने, स्मरण रखने तथा कार्य करने की विधि है।” यह कथन किसका हैं-

(अ) व्हीलर का

(ब) वुड का 

(स) अमेरिकन मार्केटिंग एसोसियेशन का 

(द) विलियम जे० स्टेन्टन का

  1. अप्रत्यक्ष विपणन का अर्थ है-

(अ) बाजार सर्वे

(ब) बाजार अनुसंधान 

(स) विज्ञापन 

(द) उपरोक्त सभी

  1. निम्नलिखित में से कौन बाह्य विज्ञापन माध्यम है-

(अ) रेडियो 

(ब) समाचार-पत्र 

(स) पत्रिकाएँ

(द) आकाश लेखन,

  1. एक अच्छी विज्ञापन प्रति का कौन-सा आवश्यक गण नहीं है-

(अ) ध्यानाकर्षण तत्व

(ब) भावनात्मक तत्व 

(स) आलोचनात्मक तत्व ।

(द) विश्वास तत्व 

  1. आधनिक समय में माल की अच्छाई एवं सस्तापन माल के प्रचार को अनावश्यक बनाते हैं।” आप इस कथन से कहाँ तक सहमत हैं-

(अ) पूर्णत: सहमत

(ब) अंशत: सहमत 

(स) सहमत नहीं

(द) इनमें से कोई नहीं 

  1. कौन सा विज्ञापन का कार्य नहीं है ? 

(अ) वाणिज्यिक कार्य

(ब) सामाजिक कार्य 

(स) मनोवैज्ञानिक कार्य

(द) परामर्श कार्य 

  1. विज्ञापन का माध्यम है-

(अ) नमूने

(ब) प्रीमियम 

(स) क्रियात्मक प्रदर्शन

(द) कलेण्डर, डायरी आदि । 

  1. “हम जहाँ कहीं हैं विज्ञापन हमारे साथ है” यह कथन है-

(अ) वाटसन डून .

(ब) आर० एस० डावर 

(स) हैनसन

(द) विलियम ग्लैडस्टोन 

  1. निम्न में से कौन-सा तत्व/तत्वों को विज्ञापन माध्यम का चुनाव करते समय ध्यान रखना पड़ता हैं?

(अ) माध्यम लागत

(ब) वितरण प्रणाली

(स) बाजार 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. भारत में प्रथम विज्ञापन एजेन्सी की स्थापना …….. में हुई-

(अ) 1950

(ब) 1905 । 

(स) 1956

(द) 1914 

  1. निम्न में से कौन-से गुण एक अच्छी विज्ञापन प्रति के लिए आवश्यक हैं-

(अ) विश्वास करने योग्य

(ब) समझने योग्य 

(स) (अ) एवं (ब) दोनों । 

(द) प्रदर्शन 

  1. भारत में विज्ञापन सम्बन्धी समस्याएँ हैं

(अ) केवल भाषा की समस्या 

(ब) केवल कुशल विज्ञापन कर्मचारियों का अभाव 

(स) केवल विज्ञापन अनुसंधान का अभाव

(द) उपरोस्त सभी 

  1. निम्न में से कौन-सा विज्ञापन का माध्यम बाह्य विज्ञापन में शामिल नहीं है-

(अ) पत्रिका विज्ञापन

(ब) विज्ञापन पत्र 

(स) विज्ञापन बोर्ड

(द) बिजली सजावट द्वारा विज्ञापन 

  1. संवर्धात्मक विज्ञापन में शामिल हैं-

(अ) प्रदर्शनी

(ब) शोरूम 

(स) वातायन विज्ञापन 

(द) उपरोक्त सभी

  1. डाक विज्ञापन में शामिल है-

(अ) परिपत्र

(ब) मूल्य सूची 

(स) (अ) एवं (ब) दोनो 

(द) स्टीकर

  1. समाचारपत्रीय विज्ञापन में शामिल हैं-

(अ) सूचीपत्र 

(ब) पुस्तिकाएँ 

(स) पत्रिकाएँ ।

(द) लीफलेट्स एवं फोल्डर्स

  1. दीवारी विज्ञापन में शामिल है-

(अ) विज्ञापन-पत्र

(ब) बिजली द्वारा सजावट 

(स) आकाश-लेख विज्ञापन 

(द) उपरोक्त सभी

  1. “व्यवसाय के लिए विज्ञापन का वही महत्व है, जो उद्योग में भाप शक्ति या चालन का है।” यह कथन किसने कहा है? 

(अ) वॉट्सन

(ब) विलियम ग्लैडस्टन 

(स) एफ. डब्ल्यू. टेलर

(द) हेनरी फयोल 

  1. भारत की प्रथम विज्ञापन एजेन्सी का क्या नाम था? । 

(अ) बी. दत्ताराम एण्ड कम्पनी 

(ब) वी. राजू एण्ड आर. राजू कम्पनी

(स) नागेश्वर एडवरटाइजिंग कम्पनी 

(द) रामेश्वरम् एडवरटाइजिंग कम्पनी 

  1. विज्ञापन की प्रभावोत्पादकता का मूल्यांकन किया जा सकता है

(अ) केवल विक्रय अनुसंधान द्वारा 

(ब) केवल संचार अनुसंधान द्वारा 

(स) (अ) एवं (ब) दोनों

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. विज्ञापन की प्रभावोत्पादकता का मूल्यांकन …….. रीति से किया जा सकता है-

(अ) केवल पहचान परीक्षण

(ब) केवल पुन:स्मरण परीक्षण 

(स) केवल युगल तुलनात्मक परीक्षण 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. संस्थागत विज्ञापन में शामिल है-

(अ) मार्गदर्शन विज्ञापन

(ब) प्रतियोगी विज्ञापन 

(स) धारणशक्ति वाला विज्ञापन 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. चाय बोर्ड या कॉफी बोर्ड के विज्ञापन सम्बन्धित हैं-

(अ) प्राथमिक विज्ञापन से

(ब) चुनिन्दा विज्ञापन से 

(स) (अ) एवं (ब) दोनों

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

60……… विज्ञापन में एक विशेष बाण्ड की वस्तु खरीदने पर ही जोर दिया जाता है-

(अ) मार्गदर्शन

(ब) धारणशक्ति वाले 

(स) प्रतियोगी

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. एक विज्ञापन जो उत्पाद जीवन-चक्र की प्रथम अवस्था में जुड़ा है, उसे कहते हैं-

(अ) प्रतियोगी विज्ञापन

(ब) मार्गदर्शन विज्ञापन 

(स) धारणशक्ति वाला विज्ञापन 

(द) समर्थक संस्थागत विज्ञापन

  1. यदि संस्था की ख्याति बढ़ाने हेतु विज्ञापन दिया जाता है, तो उसे जाना जाता हैं-

(अ) धारणशक्ति विज्ञापन 

(ब) जनसम्पर्क संस्थागत विज्ञापन 

(स) समर्थक संस्थागत विज्ञापन

(द) जनसेवा संस्थागत विज्ञापन


Follow Me

Facebook

[PDF] B.Com 1st Year All Subject Notes Question Answer Sample Model Practice Paper In English

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*