B.Com 2nd Year Cost Accounting Introduction Short Notes

B.Com 2nd Year Cost Accounting Introduction Short Notes :- Hii friends this site is a very useful for all the student. you will find all the Cost Accounting Introduction Question Paper Study Material Question Answer Examination Paper Sample Model Practice Notes PDF available in our site. parultech.com .


लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1- लागत अंकेक्षण क्या है? 

What is Cost Audit

उत्तर – लागत अंकेक्षण का आशय एवं परिभाषाएँ

(Meaning and Definitions of Cost Audit) 

लागत अंकेक्षण से आशय लागत लेखों के अंकेक्षण से है, जिसका सम्बन्ध लागत पद्धति तकनीक एवं लागत लेखों की गहन जाँच एवं शुद्धता के प्रमाणन से है। लागत अंकेक्षण की कुछ मुख्य परिभाषाएँ निम्न प्रकार हैं

(1) “लागत लेखों की शुद्धता का सत्यापन तथा लागत लेखांकन की योजना का अनुसरण लागत अंकेक्षण कहा जाता है।”

(2) “लागत अंकेक्षण शब्द का आशय लागत पद्धति, तकनीक व लेखों की गहन जाँच है ताकि उसकी शुद्धता का प्रमाणन किया जा सके व लागत लेखों के उद्देश्यों की पूर्ति का अनुसरण किया जा सके।” 

लागत अंकेक्षण में कुल मिलाकर जहाँ एक ओर यह जाँच की जाती है कि लागत लेखे शुद्ध रखे गए हैं, अर्थात् लागत की गणना शुद्ध है, वहीं दूसरी ओर यह भी देखा जाता है कि इन लेखों के रखने में लागत लेखांकन के सिद्धान्तों, नियमों और प्रक्रियाओं का उचित रूप से पालन

हुआ है या नहीं। लागत अंकेक्षण के सन्दर्भ में ‘लागत लेखे’ एक व्यापक शब्द है, जिसमें लागत पुस्तकें, लागत लेखे, लागत विवरण, लागत पत्र तथा उनसे सम्बन्धित प्रमुख एवं सहायक प्रपत्र शामिल होते हैं।

प्रश्न 2 – उन मदों के नाम बताइए जिन्हें वित्तीय लेखों में शामिल किया जाता है लेकिन लागत लेखों में नहीं।

Name the items which are included in financial accounts but are excluded from cost accounts.उत्तर – लागत लेखों में कुछ व्ययों का न लिखा जाना (Certain items of the expenses not included in cost accounts)-कुछ व्यय ऐसे होते हैं जिनको वित्तीय लेखों में तो लिखा जाता है, जबकि लागत लेखों में नहीं लिखा जाता है क्योंकि इन व्ययों का

लागत लेखांकन लागत से कोई सम्बन्ध नहीं होता। इन व्ययों के कारण दोनों लेखों के परिणामों में अन्तर आ जाता है। लागत लेखों में सम्मिलित न किए जाने वाले व्यय के उदाहरण हैं

– आयकर, पूँजी पर ब्याज, डूबत ऋण संचय, कमीशन, लाभांश, ख्याति, प्रारम्भिक व्यय, अभिगोपन कमीशन, कटौती आदि का अपलेखन, पूँजीगत व्यय एवं हानियाँ, असाधारण व्यय, लाभ नियोजन आदि।

प्रश्न 3 – लागत लेखांकन के महत्त्व को समझाइए। 

Discuss significance of Cost Accounting. 

उत्तर -(उत्तर के लिए इसी यूनिट में खण्ड ‘ब’ का प्रश्न संख्या 1 देखिए।)

प्रश्न 4 – लागत पत्र क्या है? काल्पनिक अंकों के आधार पर एक वस्त्र निर्माण उद्योग का एक लागत पत्र सही प्रारूप में तैयार कीजिए।

What is a cost sheet ? Prepare a cost sheet of a cloth manufacture industry in proper form with imagiņary figure.

उत्तर – लागत-पत्र एक निश्चित अवधि में उत्पादित इकाइयों के उत्पादन पर हुए व्ययों का विश्लेषणात्मक प्रस्तुतिकरण है जिससे कि कुल उत्पादन लागत एवं प्रति इकाई उत्पादन लागत ज्ञात हो सके। इसमें लागत की विभिन्न मदों पर किए गए व्ययों को क्रमबद्ध ढंग से प्रस्तुत किया जाता है। इसमें मूल रूप से—(1) मूल लागत, (2) कारखाना लागत, (3) उत्पादन लागत, (4) कुल लागत, (5) विक्रय मूल्य दर्शाया जाता है।

Specimen of Cost Sheet

for the period ended ….

Follow Me

Facebook

B.Com 1st 2nd 3rd Year Notes Books English To Hindi Download Free PDF

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*