Marketing Meaning Functions & Importance B.Com 3rd Year MCQ

Marketing Meaning Functions & Importance B.Com 3rd Year MCQ :- This Post has Study Notes Of All Subject of BCOM 1st 2nd 3rd Year Study Material Notes Sample Model Practice Question Answer Mock Test Paper Examination Papers Notes Download Online Free PDF This Post Contains All Subjects Like BCOM 3rd Year Corporate Accounting, Auditing, Money and financial System, Information Technology and its Application inBusiness, Financial Management, Principle of Marketing, E-Commerce, Economic Laws, Unit Wise Chapter Wise Syllabus B.COM Question Answer Solved Question Answer papers Notes Knowledge Boosters To illuminate The learning.



बहुविकल्पीय प्रश्न

1.”विपणन जीवन स्तर प्रदान करता है।” यह परिभाषा है

(अ) फिलिप कोटलर की

(ब) विलियम जे० स्टेण्टन की 

(स) पाल मजूर की

(द) हेन्सन की 

  1. “विपणन में क्रय एवं विक्रय दोनों ही क्रियाएँ सम्मिलित होती हैं।” यह परिभाषा है-

(अ) पाइले की

(ब) क्लार्क एवं क्लार्क की 

(स) हैन्सन की

(द) सेण्ट थॉमस की 

  1. “विपणन एक आधारभूत व्यावसायिक दर्शन है।” यह कथन है-

(अ) थॉमस का

(ब) हेन्सन का 

(स) ब्रेच का 

(द) स्टेण्टन का

  1. विपणन का लाभ है

(अ) उपभोक्ताओं को

(ब) व्यवसायियों को 

(स) निर्माताओं को

(द) सभी को

  1. विपणन क्रिया का मूलभूत उद्देश्य जोड़ना है-

(अ) उत्पादक तथा उपभोक्ता

(ब) थोक विक्रेता एवं फुटकर विक्रेता 

(स) उत्पादक एवं फुटकर विक्रेता 

(द) उत्पादक एवं विज्ञापनकर्ता 

  1. व्यवसाय के लिए विपणन है

(अ) अनिवार्य

(ब) आवश्यक 

(स) अनावश्यक

(द) विलासिता 

  1. विपणन पर व्यय किया गया धन है-

(अ) बर्बादी

(ब) अनावश्यक व्यय 

(स) ग्राहकों पर भार

(द) विनियोजन 

  1. विपणन व्यय भार है-

(अ) उद्योग पर

(ब) व्यवसायियों पर 

(स) उपभोक्ताओं पर

(द) इनमें से किसी पर भी नहीं। 

  1. विपणन संस्थाओं में सम्मिलित हैं-

(अ) उत्पादक और निर्मातागण

(ब) मध्यस्थ 

(स) सुविधा देने वाली संस्थाएँ 

(द) सभी 

  1. निम्नलिखित में कौन-सा विपणन का कार्य नहीं है-

(अ) विक्रय

(ब) क्रय 

(स) शिक्षण

(द) परिवहन 

  1. विपणन अवधारणा है-

(अ) उत्पादोन्मुखी

(ब) विक्रयोन्मुखी 

(स) ग्राहकोन्मुखी

(द) ये सभी 

  1. विपणन अवधारणा का महत्त्व है-

(अ) समाज के लिए

(ब) उपभोक्ताओं के लिए 

(स) उत्पादक के लिए

(द) ये सभी 

  1. “विपणन अवधारणा उपभोक्ता प्रधान है जो कि सुग्रथित विपणन द्वारा समर्थित होती है और जिसका लक्ष्य उपभोक्ता सन्तुष्टि उत्पन्न करना होता है जो कि संगठनात्मक लक्ष्यों की सन्तुष्टि का आधार है।” यह कथन है-

(अ) फिलिप कोटलर का.

(ब) विलियम जे० स्टेण्टन का 

(स) कण्डिफ स्टिल एवं गोवोनी का 

(द) क्लार्क एण्ड क्लार्क का 

  1. विपणन की उपयोगिता अवधारणा निम्न में से किसके द्वारा दी गई है-

(अ) पॉल मजूर द्वारा

(ब) फिलिप कोटलर द्वारा 

(स) रिचर्ड बुसकिर्क द्वारा

(द) क्लार्क एवं क्लार्क द्वारा 

  1. विपणन की उपेक्षा अल्प-विकसित अर्थव्यवस्था का बड़ा (मुख्य) कारण है, यह विचार किसके है? 

(अ) आर० एस० डावर

(ब) पीटर एफ. ड्रकर / 

(स) फिलिप कोटलर

(द) उपरोक्त में कोई नहीं 

  1. ”विपणन से तात्पर्य उन सभी क्रियाओं के निष्पादन से है जो कि उत्पादक से उपभोक्ता या प्रयोगकर्ता तक वस्तुओं एवं सेवाओं के प्रवाह को निर्दिष्ट करती है।” यह कथन किसका 

(अ) एच० एल० हेन्सन

(ब) प्रो० मेल्कम मैक नेयर 

(स) क्लार्क एवं क्लार्क

(द) अमेरिकन मार्केटिंग एसोसियेशन 

  1. विपणन का प्रारम्भ होता है-

(अ) उपभोक्ता से

(ब) उत्पादन से 

(स) विक्रय से

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विपणन की आधुनिक विचारधारा स्वीकार नहीं करती

(अ) उच्च किस्म की सेवाएँ

(ब) ग्राहकों की सन्तुष्टि 

(स) शोध एवं विकास

(द) ग्राहकों की असंतुष्टि 

  1. विपणन का वाणिज्यिक कार्य कौन सा नहीं है?

(अ) उत्पाद नियोजन एवं विकास 

(ब) प्रमापीकरण एवं श्रेणियन 

(स) कच्चे माल का भण्डारण 

(द) क्रय एवं विक्रय  

  1. विपणन वह ……… है जो अर्द्धविकसित देशों की आर्थिक संवृद्धि के दरवाजों को खोलती है

(अ) प्रक्रिया

(ब) साधन

(स) चाबी

(द) उपकरण 

  1. “विपणन का तात्पर्य जीवन स्तर का सृजन कर उसे समाज को प्रदान करना है।” यह कथन हैं

(अ) मेल्कम मेक्नेयर का

(ब) पॉल मजूर का 

(स) हैन्सन का

(द) फिलिप कोटलर का 

  1. “जिस प्रकार विपणन क्रिया वस्तु का उत्पादन पूर्ण करने पर प्रारम्भ नहीं होती उसी प्रकार ये क्रियाएँ वस्तु की अन्तिम बिक्री के साथ भी समाप्त नहीं हो जाता हैं।” यह कथन किसका है? 

(अ) फिलिप कोटलर

(ब) डब्ल्यू० जे० स्टेण्टन 

(स) आर० एस० डावर

(द) इनमें से किसी का नहीं 

  1. विपणन में मुख्य रूप से ….. की पहचान एवं संतुष्टि पर जोर दिया जाता है

(अ) ग्राहक की आवश्यकताओं 

(ब) बाजार की आवश्यकताओं 

(स) उपरोक्त दोनों

(द) इनमें से कोई नहीं 

  1. समंकों के एकत्रीकरण, विश्लेषण एवं व्याख्या के विपणन निर्णयों के निर्देशन को कहा जाता है ……………. 

(अ) विपणन शोध

(ब) विपणन सूचना शोध 

(स) विपणन डाटाबेस

(द) इनमें से कोई नहीं 

  1. विपणन के अन्तर्गत कौन-सी क्रियाएँ सम्मिलित होती हैं?

(अ) उत्पादन नियोजन एवं विकास 

(ब) परिवहन 

(स) बाजार सूचना

(द) उपरोक्त सभी 

  1. “विपणन समाज को जीवन-स्तर प्रदान करता है।” इस कथन से क्या अर्थ निकलता है?

(अ) अच्छी किस्म का माल एवं सेवाएं प्रदान करना 

(ब) उचित कीमत वसूल करना

(स) विक्रयोपरान्त सेवा प्रदान करना 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विपणन की उत्पाद अभिमुखी विचारधारा में सम्मिलित नहीं होता

(अ) ग्राहक की आवश्यकताओं को प्राथमिकता 

(ब) अधिकतम उत्पादन 

(स) अधिकतम लाभ

(द) अधिकतम बिक्री 

  1. जोखिम जो प्रतियोगिता के आधार पर, मूल्य के बदलाव के कारण, ग्राहक की प्राथमिकताओं तथा माँग के कारण उत्पन्न होता है के नाम से जाना जाता है-

(अ) बाजारी अथवा आर्थिक जोखिम 

(ब) प्राकृतिक जोखिम 

(स) मानवीय जोखिम

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. सबसे मौलिक परिकल्पना जो अवश्यमेव रूप में सभी विपणन क्रियाओं का आधार मानी जाती है

(अ) लाभ कमाने की आवश्यकता 

(ब) उपभोक्ता की सन्तुष्टि उत्पन्न करने की आवश्यकता 

(स) मानवीय इच्छाओं का अस्तित्व

(द) आवश्यकताओं अथवा इच्छाओं की पहचान 

  1. विपणन संगठन का मैट्रिक्स प्रकार का विपणन ……. के अधिक अनुकूल है

(अ) एक उत्पाद-एक बाजार स्थिति 

(स) बहुउत्पाद-बहु बाजार स्थिति

(ब) बहुउत्पाद-एक बाजार स्थिति 

(द) उपर्युक्त कोई नहीं

  1. निम्नलिखित में कौन विपणन का खाड नहीं है

(अ) प्रस्तुती

(ब) बाजार 

(स) फर्म 

(द) ढंग अथवा सिद्धान्त

  1. Meta Marketing धारणा सबसे पहले …….ने प्रयोग की थी

(अ) कैले इ० जे० 

(स) पीटर एफ ड्रकर

(ब) फिलिप कोटलर 

(द) आर० मेयर

  1. विपणन की सामाजिक धारणा दी थी-

(अ) पाल माडजयु

(ब) एम०एम०सी० नॉयर 

(स) फिलिप कोटलर

(द) लैरी एल० हैन्सन 

  1. निम्नलिखित में से कौन-सा 6M में सम्मिलित नहीं जोकि साधनों के सुचारू तथा प्रभावशाली प्रयोग में होता है-

(अ) धन

(ब) जनसमूह 

(स) जनशक्ति

(द) बाजार 

  1. समष्टि विपणन की परिकल्पना किसके द्वारा प्रस्तुत की गई-

(अ) एस० जे० लैवी

(ब) आर० मेयर 

(स) कैले ई० जे०

(द) पीटर एफ० ड्रकर 

  1. किसी फर्म की वस्तुओं, प्रथाओं तथा सेवाओं की उसके सबसे बड़े प्रतियोगी से लगातार मापने की प्रक्रिया को कहते हैं

(अ) बड़े स्तर पर विपणन

(ब) अतिरिक्त विपणन 

(स) बैच विपणन

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. निम्नलिखित में पूँजी बाजार कौन-सा नहीं है

(अ) धन बाजार

(ब) सर्राफा बाजार (सोने-चाँदी का बाजार) 

(स) विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार 

(द) स्टॉक विनिमय बाजार 

  1. क्रेता तथा विक्रेता के मध्य मौखिक समझ पर आधारित विक्रय, जिसमें कोई मूल्य तय नहीं होता यह निश्चित होता है कि क्रेता बाजार का वर्तमान मूल्य देगा-इसे कहते हैं

(अ) खुली बोली पर विक्रय

(ब) दड़ा-विक्रय 

(स) मौखिक विक्रय

(द) वैयक्तिक समझौते द्वारा विक्रय 

  1. निम्नलिखित में कौन-सा विपणन का स्थूल वितरण कार्य नहीं है

(अ) थोक तथा परचून

(ब) भण्डारण 

(स) मालगोदाम

(द) परिवहन 

  1. अनुज्ञाप्ति मालगोदाम जो आयातित वस्तुओं का भण्डारण तट कर देने तक स्वीकार करता है …… जाना जाता है

(अ) निजी मालगोदाम

(ब) सार्वजनिक मालगोदाम 

(स) अनुबन्धित मालगोदाम

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. “विपणन में वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन से उपभोग तक के प्रवाह की क्रियाएँ सम्मिलित होती हैं।” यह कथन है

(अ) प्रो० पाइले

(ब) क्लार्क एवं क्लार्क 

(स) कन्वर्स, हूजी एवं मिचेल 

(द) विलियम जे. स्टेण्टन 

  1. उपभोक्ता प्रवृत्ति पर आधारित विपणन काल कब प्रारम्भ हुआ

(अ) 1900 

(ब) 1920 

(स) 1930 

(द) 1950 

  1. प्रभावपूर्ण विपणन सहायता करता है

(अ) नये उत्पाद के विकास में 

(ब) प्रतिस्पर्धी वातावरण के निर्माण में

(स) उत्पाद की मांग का सृजन 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. एक व्यवसाय में सर्वोपरि महत्त्व का पहलू है

(अ) उत्पादन

(ब) वित्त 

(स) सेविवर्गीय प्रबन्ध

(द) विपणन 

  1. विपणन की सबसे पुरानी अवधारणा है-

(अ) उत्पादन अवधारणा

(ब) विक्रय अवधारणा 

(स) विपणन अवधारणा

(द) सामाजिकीय विपणन अवधारणा 

  1. उत्पाद अवधारणा के समर्थक थे

(अ) फिलिप कोटलर

(ब) प्रो० मैकार्थी 

(स) डब्लयू० जे० स्टेण्टन

(द) प्रो० पाइले 

  1. विपणन का क्षेत्र, विक्रय के क्षेत्र की तुलना में है

(अ) संकुचित

(ब) विस्तृत 

(स) समान

(द) भिन्न

  1. विपणन क्रिया समाप्त होती है

(अ) वस्त की अन्तिम बिक्री के साथ

(ब) वस्तु के वितरण के साथ 

(स) विक्रय के बाद सेवा प्रदान करके 

(द) उपरोक्त सभी। 

  1. विपणन का कार्य सम्पर्क स्थापित करना है।” यह किसने कहा

(अ)  पॉल टी० चेरिगंटन 

(ब) प्रो० हेन्सन 

(स) प्रो० स्टेण्टन

(द) इनमें से कोई नहीं 

50, मैकगैरी के अनुसार विपणन के कार्य हैं

(अ) 5

(ब) 6

(स) 4 

(द) 3

  1. क्लार्क एवं क्लार्क ने विपणन के कार्य बताए हैं

(अ) 5 

(ब) 6 

(स) 4

(द) 8 

  1. “विपणन प्रणाली महत्त्वपूर्ण संस्थाओं और प्रवाहों का समूह है जोकि एक संगठन को उसके बाजारों से जोड़ता है।” यह परिभाषा किसने दी है

(अ) विलियम जे० स्टेण्टन

(ब) सेन्ट थोमस 

(स) एडवर्ड एवं डेविड

(द) फिलिप कोटलर 

  1. विपणन है

(अ) विज्ञान

(ब) कला 

(स) विज्ञान एवं कला दोनों

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. विपणन अवधारणा है

(अ) उत्पादोन्मुखी

(ब) ग्राहकोन्मुखी प्रक्रिया 

(स) विक्रयोन्मुखी

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. विपणन का सम्बन्ध है

(अ) अर्थशास्त्र से

(ब) समाजशास्त्र से 

(स) राजनीतिशास्त्र से

(द) उपरोक्त सभी से 

  1. विपणन के क्षेत्र में सम्मिलित है

(अ) उपभोक्ता अनुसन्धान

(ब) विक्रय संवर्द्धन निर्णय 

(स) विक्रय उपरान्त सेवा

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विपणन शोध के क्षेत्र में जो क्रिया शामिल नहीं है, वह है

(अ) विज्ञापन करना

(ब) उत्पाद शोध करना 

(स) वितरण शोध करना

(द) मूल्य से सम्बन्धित शोध करना 

  1. विपणन के भौतिक वितरण कार्य में सम्मिलित नहीं है

(अ) ब्राण्डिंग

(ब) पैकेजिंग 

(स) मूल्य निर्धारण

(द) प्रमापीकरण एवं श्रेणीयन 

  1. विपणन के सहायक कार्य हैं

(अ) विपणन वित्त व्यवस्था

(ब) जोखिम वहन करना 

(स) बाजार सूचना

(द) उपरोक्त सभी 

  1. आधुनिक युग में प्रत्येक संस्था को महत्त्वपूर्ण कार्य करने पड़ते हैं, वे हैं

(अ) नवाचार

(ब) नवाचार और विपणन 

(स) विपणन

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. विक्रेता बाजार से आशय है

(अ) वस्तुओं की माँग की अपेक्षा पूर्ति अधिक होती है 

(ब) वस्तुओं की मांग की अपेक्षा पूर्ति कम होती है। 

(स) उत्पादन क्षेत्र में एकाधिकारी प्रवृत्ति पायी जाती है

(द) उपराक्त (ब) तथा (स) दोनों 

  1. सम्बन्धन विपणन में मुख्य पक्ष हैं

(अ) वितरक 

(ब) पूर्तिकर्ता 

(स) ग्राहक

(द) उपरोक्त सभी 

  1. “विपणन प्रबन्ध विपणन विचार का क्रियात्मक रूप है।”यह कथन किसका है?

(अ) स्टेण्टन 

(ब) आर० एस० डावर 

(स) फिलिप कोटलर

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं

  1. विपणन प्रबन्ध का प्रमुख उद्देश्य है

(अ) विक्रय वृद्धि

(ब) ग्राहक-सन्तुष्टि 

(स) विनिमय

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. “सही उत्पाद को सही स्थान, सही समय एवं सही मूल्य पर पहुँचना ही विपणन है।” यह परिभाषा किसने दी है

(अ) बूएल

(ब) कोटलर 

(स) स्टेण्टन

(द) प्रो० पायले 

  1. विपणन उत्पादों में किस प्रकार की उपयोगिता का सृजन करते हैं? 

(अ) स्थान उपयोगिता

(ब) समय उपयोगिता 

(स) स्वामित्व उपयोगिता

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विपणन क्रिया है

(अ) सामाजिक क्रिया

(ब) आर्थिक क्रिया 

(स) मानवीय क्रिया

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विपणन का केन्द्र बिन्दु होता है

(अ) ग्राहक

(ब) उत्पाद 

(स) उत्पादक

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. विपणन की उत्पादन अवधारणा है

(अ) प्राचीनतम अवधारणा

(ब) नवीनतम अवधारणा 

(स) प्रारम्भिक अवधारणा

(द) उपरोक्त (अ) तथा (स) दोनों 

  1. विपणन की आधुनिक अवधारणा है

(अ) ग्राहक अभिमुखी

(ब) माँग अभिमुखी 

(स) सन्तुष्टि अभिमुखी

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विपणन अवधारणा के बढ़ते महत्त्व का कारण है

(अ) ग्राहकीकरण की प्रवृत्ति

(ब) प्रतिस्पर्धा में वृद्धि 

(स) तकनीकी परिवर्तन

(द) उपरोक्त सभी 

  1. विपणन का अन्त होता है

(अ) माल के विक्रय के साथ

(ब) अधिकतम लाभ कमाने के साथ 

(स) ग्राहक की सन्तुष्टि के साथ 

(द) प्रतिस्पर्धियों को मात देने के साथ 

  1. बिक्री कार्य……है

(अ) सेवा कार्य

(ब) आर्थिक कार्य 

(स) अनार्थिक कार्य

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. सम्पूर्ण व्यावसायिक क्रियायें……..का चक्कर लगाती है

(अ) उपभोक्ता

(ब) उत्पाद ” 

(स) बाजार

(द) मुद्रा .

  1. आधुनिक विपणन विचारधारा के आधार स्तम्भ हैं

(अ) 2

(ब) 3 

(स) 4.

(द) 5 

  1. निम्न में से कौन सा विपणन कार्य नहीं है

(अ) क्रय

(ब) विक्रय 

(स) परिवहन

(द) लागत 

  1. उत्पाद अवधारणा शब्द का सबसे पहले उपयोग किया था

(अ) फिलिप कोटलर

(ब) थियोडोर लेविट 

(स) डब्ल्यू० जे० स्टेण्टन

(द) आर० एस० डावर 

  1. विपणन का कौन-सा वाणिज्ययन कार्य नहीं है

(अ) विक्रयन

(ब) प्रमापीकरण एवं श्रेणीयन 

(स) परिवहन

(द) उत्पाद नियोजन एवं विकास 

  1. विपणन का कौन-सा सहायक कार्य नहीं है

(अ) विपणन वित्त-व्यवस्था

(ब) जोखिम वहन करना 

(स) बाजार सूचना

(द) भण्डारण

  1. विपणन के भौतिक वितरण कार्यों में शामिल है

(अ) विक्रयण 

(ब) परिवहन 

(स) जोखिम वहन करना

(द) क्रय एवं संकलन 

  1. पेट्रोल, खाना बनाने की गैसे एवं पेपर ……..बाजार के उदाहरण हैं

(अ) विक्रेता

(ब) क्रेता 

(स) उपरोक्त (अ) एवं (ब) दोनों 

(द) दलाल 

  1. कार, टी०वी०, स्कूटर, साइकिल और प्रेशर कुकर ……….. बाजार के उदाहरण हैं

(अ) विक्रेता

(ब) क्रेता 

(स) उपरोक्त (अ) एवं (ब) दोनों 

(द) प्रेषण 

  1. ‘विपणन प्रबन्ध’ के पिता के रूप में किसे जाना जाता है

(अ) विलियम जे० स्टेण्टन

(ब) फिलिप कोटलर 

(स) टाउसले, क्लार्क एवं क्लार्क 

(द) हैन्सन 

  1. पुरातन विपणन की विचारधारा है –

(अ) उत्पादन-अभिमुखी

(ब) ग्राहक-अभिमुखी 

(स) समाज-अभिमुखी

(द) सेवा-अभिमुखी 

  1. ग्राहक सन्तुष्टि ………… विपणन विचारधारा का मुख्य उद्देश्य है

(अ) व्यापक

(ब) परम्परागत 

(स) सामाजिक

(द) उपर्युक्त में से कोई नहीं 

  1. आधुनिक विपणन विचारधारा में ……….. को मुख्य प्राथमिकता दी गयी है

(अ) उत्पाद

(ब) ग्राहक 

(स) बाजार

(द) समाज 

  1. साइबर विपणन को पुकारा जाता है

(अ) ऑन लाइन विपणन

(ब) इन्टरनेट विपणन 

(स) ई-कॉमर्स

(द) ये सभी 

  1. ‘विपणन’, ‘विपणन प्रबन्ध’ से बड़ा अर्थ वाला शब्द है। यह कथन है: 

(अ) सत्य

(ब) असत्य 

(स) अस्पष्ट

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. “विपणन एक ऐसी सुग्रथित प्रणाली है जो रूप, स्थान, समय एवं अधिकार उपयोगिताओं के सृजन द्वारा वस्तुओं में मूल्य उत्पन्न करती है।” यह कथन …… का है। 

(अ) डब्ल्यू. जे. स्टेण्टन

(ब) रिचर्ड बुसकिर्क 

(स) एच. एल. हैन्सन

(द) फिलिप कोटलर 

  1. “विक्रय एवं विपणन दोनों पर्यायवाची हैं।” यह कथन है: 

(अ) सत्य

(ब) अस्पष्ट 

(स) असत्य

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. ‘विपणन प्रबन्ध’ की विचारधारा का सर्वप्रथम उदय हुआ: 

(अ) फ्रांस में

(ब) यू. के. में 

(स) यू. एस. ए. में

(द) टर्की में 

  1. कौन-सा उद्देश्य विपणन की आधुनिक विचारधारा का नहीं हैं? 

(अ) उपभोक्ता अभिमुखी

(ब) उत्पाद अभिमुखी 

(स) उपभोक्ता सन्तुष्टि 

(द) विपणन समन्वय

93.”एक विपणन नीति एक क्रियाविधि का विवरण है जिसका अनुसरण एक दी हई स्थिति में किया जायेगा।” यह कथन …… का है। 

(अ) डब्ल्यू. जे. स्टेण्टन

(ब) आर. एस. डावर 

(स) फिलिप कोटलर

(द) कण्डिफ स्टिल एवं गोवोनी 

  1. “ग्राहक राजा है”……… के अनुसार।

(अ) आधुनिक विपणन विचाराधारा 

(ब) परम्परागत विपणन विचाराधरा 

(स) (अ) एवं (ब) दोनों

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. ग्राहकों की आवश्यकताओं को प्रभावशाली ढंग से ….. विपणन संगठन के अन्तर्गत पूरा किया जा सकता है। 

(अ) उत्पादोन्मुखी

(ब) ग्राहकोन्मुखी 

(स) बाजारोन्मुखी

(द) कार्योन्मुखी


Follow Me

Facebook

[PDF] B.Com 1st Year All Subject Notes Question Answer Sample Model Practice Paper In English

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*