B.Com 3rd Year IT Infrastructure Web Domain Name & Web Hosting Notes

B.Com 3rd Year IT Infrastructure Web Domain Name & Web Hosting Notes :- E-Commerce Study Material Question Answer Examination Paper Sample Model Practice Notes PDF MCQ (Multiple Choice Questions) available in our site. parultech.com. Topic Wise Chapter wise Notes available. If you agree with us, if You like the notes given by us, then please share it to all your Friends. If you are Confused after Visiting our Site Then Contact us So that We Can Understand You better.

सूचना प्रौद्योगिकी की आधारभूत संरचना

(IT Infrastructure) 

सूचना प्रौद्योगिकी इन्फ्रास्ट्रक्चर एक संगठन के सभी हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, नेटवर्क, एप्लिकेशन और डेटाबेस का संयोजन है जो किसी संगठन की आईटी सेवाओं का संचालन और रखरखाव करता है। तेजी से आईटी सक्षम परिदृश्य में, संगठन अपने अधिकांश अनुप्रयोगों को ऑनलाइन बना रहे हैं और अधिकांश प्रक्रियाएं और सेवाएं आईटी की सहायता से सम्पन्न कर रहे हैं। आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर पूरे ढांचे के साथ वह रूपरेखा प्रदान करता है जो संगठन को ऐसे परिदृश्यों में चालू रखता है। आईटी अवसंरचना शब्द को आईटीआईएल द्वारा हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, नेटवर्क, सुविधाओं, आदि (सूचना प्रौद्योगिकी से संबंधित सभी उपकरण सहित) के संयुक्त समूह के रूप में परिभाषित किया गया है, जिसका उपयोग आईटी सेवाओं के विकास, परीक्षण वितरण, निगरानी, नियंत्रण या समर्थन करने के लिए किया जाता है। यद्यपि संबद्ध लोग, प्रक्रियाएं और प्रलेखन आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर का हिस्सा नहीं माने जाते हैं। स्विचिंग (Switching): नेटवर्क स्विच वह उपकरण है जो स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क (LAN) पर नेटवर्क उपकरणों के बीच कनेक्टिविटी प्रदान करता है। एक स्विच में कई पोर्ट (port) होते है जो भौतिक रूप से अन्य नेटवर्क उपकरणों से जुड़ते हैं जिसमें अन्य स्विच, राउटर और सर्वर शामिल होते हैं। राउटर (Router): राउटर नेटवर्क के बीच पैकेट को मूव (move) करते हैं। रूटिंग विभिन्न LANs पर अलग किए गए उपकरणों को अगले “हॉप’ को निर्धारित करके एक दूसरे से संवाद करने में सहायता करता है जो नेटवर्क पैकेट को अंतत: अपने गंतव्य पर पहुंचने की अनुमति देगा। यदि आपने कभी वर्कस्टेशन पर अपने आईपी पते को मैन्युअल रूप से कॉन्फिगर किया है, तो डिफॉल्ट गेटवे वेल्यू ही आपके राउटर का IP पता (address) होगा। फायरवॉल (Firewalls): फायरवॉल नेटवर्क का सुरक्षा उपकरण है। फायरवॉल को सरंक्षक या द्वारपाल माना जा सकता है। नियमों का एक सेट परिभाषित करता है कि फायरवॉल के माध्यम से किस प्रकार के नेटवर्क ट्रैफिक को अनुमति दी जाएगी और क्या अवरुद्ध किया जाएगा। फायरवॉल के सबसे सरल संस्करण में, नियम बनाए जा सकते हैं जो किसी डिवाइस या उपकरणों के समूह के लिए एक डिवाइस (या उपकरणों के एक समूह) से ट्रैफिक के लिए एक विशिष्ट पोर्ट और/या प्रोटोकॉल की अनुमति देते हैं। सर्वर (Server): एक नेटवर्क सर्वर कंप्यूटर की तरह ही है, लेकिन आमतौर पर संसाधनों के मामले में जितना लोग सोचते हैं उससे बड़ा होता है। एक सर्वर कई उपयोगकर्ताओं को अपने संसाधनों तक पहुंचने और साझा करने की अनुमति देता है। भौतिक संयंत्र (Physical Plant): भौतिक संयंत्र में कार्यालय भवनों और सर्वर कक्ष/डेटा केंद्र में नेटवर्क केबल बिछाने से सम्बन्धित सभी कुछ सम्मिलित है। बुनियादी ढांचे में आमतौर पर इसकी उपेक्षा की जाती है। बनियादी ढांचे में केबल बिछाने के दो मुख्य प्रकार हैं: कैट 5/6/7 और फाइबर ऑप्टिक। व्यक्ति (People): आईटीआईएल परिभाषा के अनुसार, लोगों को नेटवर्क के बुनियादी ढाबा हिस्सा नहीं माना जाता है। यद्यपि सक्षम, अच्छी तरह से योग्य लोगों का अभाव बुनियादी ढांचे को और बनाए रखने के सम्बन्ध में, संगठन की क्षमताओं को सीमित करेगा। सर्वर रूम/डाटा सेंटर (Server Room/Data Centre): सर्वर रूम, या डेटा सेंटर की संगठनों में) को फर्म के नेटवर्क का मुख्य आधार माना जा सकता है। यह वह स्थान है जिसमें अपने सभी सर्वरों को रखता है, और यह आमतौर पर अधिकांश नेटवर्क के केंद्र के रूप में कार्य इन्फ्रास्ट्रक्चर सॉफ्टवेयर (Intrastructure Software): यह संभवत: सभी इनफ्रास्ट्रक्चर घटकों का सबसे “ग्रे” है। यद्यपि सर्वर ऑपरेटिंग सिस्टम और निर्देशिका सेवाओं (जैसे MS AR Directory) को बुनियादी ढांचे का हिस्सा माना जाना चाहिए। बहु-उपयोगकर्ता ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना, हार्डवेयर अपने बुनियादी ढांचे के कार्य को नहीं कर सकता है।

इन्फ्रास्ट्रक्चर के प्रकार

(Types of Infrastructure) 

व्यवसाय की आवश्यकताओं और उपलब्ध नवीन तकनीकों के कारण संगठन व्यावसायिक लक्ष्यों को पूरा करने के लिए डेटा सेंटर अवसंरचना के अधिक विविध वर्गीकरण का उपयोग कर सकते हैं। एक अपरिवर्तनीय अवसंरचना (Immutable Infrastructure): आईटी संसाधनों पर सेवाओं और सॉफ्टवेयर प्रयोग का प्रबंधन करने के लिए एक दृष्टिकोण है जिसमें घटकों को बदले जाने के बजाय बदल दिया जाता है। किसी भी प्रकार का बदलाव होने पर हर बार एक एप्लिकेशन या सेवा को प्रभावी ढंग से फिर से तैयार किया जाता है। उदाहरण के लिए, एक पैच या हॉटफिक्स एक पारंपरिक ऐप को अपडेट कर सकता है, लेकिन एक अपरिवर्तनीय अवसंरचना इसका समर्थन नहीं करती है। इसके बजाय, IT नए ऐप को लॉन्च करता है, इससे ट्रैफिक को रीडायरेक्ट करता है और पुराने ऐप को रिटायर करता है।   एक कम्पोजिबल इनफ्रास्ट्रक्चर (Composable Infrastructure): एक ढांचा है जो भौतिक गणना, भंडारण और नेटवर्क फैब्रिक संसाधनों को सेवाओं के रूप में मानता है। संसाधन तार्किक रूप से तैयार होते हैं, इसलिए किसी विशिष्ट सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन का प्रयोग करने के लिए व्यवस्थापकों को हार्डवेयर को भौतिक रूप से कॉन्फिगर करने की आवश्यकता नहीं होती है। Admins डेटा सेंटर के लिए सॉफ्टवेयर-परिभाषित अवसंरचना क्षमताओं को सक्षम करने, उच्च स्तर के स्वचालन और ऑर्केस्ट्रेशन का उपयोग करके सॉफ्टवेयर टूल के माध्यम से संसाधनों को व्यवस्थित और प्रबंधित कर सकता है। डायनेमिक इन्फ्रास्ट्रक्चर (Dynamic Infrastructure): एक ढांचा है जो कार्यभार की मांग में बदलाव होने पर स्वचालित रूप से खुद को समायोजित कर सकता है। यह बुनियादी ढांचे के प्रबंधन के लिए आवश्यक समय और प्रयास को कम करता है और त्रुटियों को कम करता है, जिससे संसाधनों को यथासंभव कुशलता से उपयोग किया जाता है। आईटी प्रशासक इन संसाधनों के मैन्युअल रूप से प्रबंधित करने का विकल्प भी चुन सकते हैं। क्रिटिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर (Critical Infrastructure): एक ढांचा है जिसके लिए परिसंपत्तियाँ इतनी आवश्यक हैं कि किसी दिए गए राष्ट्र, उसकी अर्थव्यवस्था और जनता के स्वास्थ्य और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उनके निरंतर संचालन की आवश्यकता होती है। उच्च उपलब्धता (एचए) और लचीलापन इसके लिये अत्यन्त आवश्यक हैं, जिनमें अक्सर कार्य की अधिकता के समय दूरस्थ डेटा केंद्र और क्लाउड संसाधन शामिल होते हैं। कॉन्टैक्ट-सेंटर इंफ्रास्ट्रक्चर (Contact Centre Infrastructure)-भौतिक और वर्चुअल संसाधनों से बना एक ढांचा है जोकि कॉल सेंटर की सुविधा को प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिये आवश्यक है। इन्फ्रास्ट्रक्चर घटकों में स्वचालित कॉल वितरक, एकीकृत आवाज प्रतिक्रिया इकाइया, कंप्यूटर-टेलीफोनी एकीकरण और क्यू प्रबंधन शामिल हैं। क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर (Cloud Infrastructure) में एक अमूर्त परत शामिल होती है जो संसाधनों का वर्चुअलाइजेशन करती है और एप्लिकेशन प्रोग्राम इंटरफेस और एपीआई-सक्षम कमांड-लाइन या ग्राफिकल इंटरफेस के माध्यम से इंटरनेट पर उपयोगकर्ताओं के लिए तार्किक रूप से उन्हें प्रस्तत करती है इसकी अतिरिक्त क्षमताओं में उपयोगकर्ता स्वयं-सेवा, स्वचालित बिलिंग या चार्जबैक और उपयोगकर्ता-साइड रिपोर्टिग शामिल हैं, इसलिए उपयोगकर्ता उन संसाधनों और सेवाओं का देख सकते हैं जिन्हें वे प्राप्त करते हैं, साथ ही साथ उसे प्राप्त करने की लागत भी देख सकत है। इस क्लाउड स्टोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से बना एक ढांचा है जो निजी या कि क्लाउड स्टोरेज सेवा की कंप्यूटिंग आवश्यकताओं को पूरा करता है। डार्क इन्फ्रास्ट्रक्चर (Drak Infrastructure) फ्रेमवर्क का एक हिस्सा है, जो कि अनुक्रमणित हो लेकिन सक्रिय,सॉफ्टवेयर या सेवाओं से बना है, जिनका अस्तित्व और कार्य प्रणाली प्रशासकों के Pा अज्ञात है। इस तथ्य के बावजूद भी यह प्रलेखित बुनियादी ढांचे के निरंतर संचालन के लिए अभिन्न सकता है। इसे अक्सर छाया आईटी के रूप में जाना जाता है, और यह संगठन के लिए एक गभार सुरक्षा मुद्दा बन सकता है।

एक वेब डोमेन क्या है?

(What is a Web Domain) 

इंटरनेट मूल रूप से केबलों के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े कंप्यूटरों का एक विशाल नेटवर्क ही उन्हें आसानी से पहचानने के लिए, प्रत्येक कंप्यूटर को आईपी एड्रेस नामक संख्या की एक श्रृंखला मौंपी जाती है। यह आईपी एड्रेस डॉट्स के साथ अलग किए गए नंबरों का एक संयोजन है। आमतौर पर. आईपी पते 66.249.73.1 जैसे दिखते हैं। कंप्यूटर को इन नंबरों को पहचानने और याद रखने में कोई समस्या नहीं है। हालांकि, इंटरनेट पर वेबसाइटों से जुड़ने के लिए मनुष्यों को इन नंबरों को याद रखना और उनका उपयोग करना असंभव है। इस समस्या को हल करने क लिए, डोमेन नाम का आविष्कार किया गया था। एक डोमेन नाम में ऐसे शब्द हो सकते हैं जो वेबसाइट एड्रेस को याद रखना आसान बनाते हैं। वेब डोमेन नाम एक विकल्प है जो इंटरनेट प्रोटोकॉल (आईपी) पते की जगह लेता है। डोमेन नाम उस वेबसाइट का पता है जिसे हमें वेबसाइट पर जाने के लिए ब्राउजर के यूआरएल बार में टाइप करना होता है। दूसरे शब्दों में, अगर वेबसाइट है एक घर, तब डोमेन नाम उसका पता होगा। इस प्रकार, यदि कोई इंटरनेट पर किसी वेबसाइट पर जाना चाहता है, तो उसे नंबर की एक स्ट्रिंग टाइप करने की आवश्यकता नहीं है। इसके बजाय, कोई डोमेन नाम याद रखने में आसान हो सकता है, उदाहरण के लिए, flipkart.com| एक वेब डोमेन इंटरनेट पर एक वास्तविक उपस्थिति है, जैसे कि वेब पेज। एक आईपी पते से डोमेन नाम में अनुवाद करना डोमेन नेम सिस्टम (DNS) के माध्यम से किया जाता है। उदाहरण के लिए, एक डोमेन नाम www.study.com है। www एक तृतीय-स्तरीय डोमेन है, जो वेब पर डोमेन नाम देखने के लिए ब्राउजर को सूचित करता है। दूसरा भाग, ‘study’ यूनिक है और इसे द्वितीय स्तरीय डोमेन नाम माना जाता है, और .com भाग शीर्ष-स्तरीय डोमेन या TLD का प्रतिनिधित्व करता है।

वेब होस्टिंग क्या है?

(What is Web Hosting) 

वेब होस्टिंग वह जगह है जहाँ वेबसाइट की सभी फाइलें रहती हैं। यह वेबसाइट का घर जैसा है जहा यह वास्तव में रहता है। इस बारे में सोचने का एक अच्छा तरीका यह है कि यदि डोमेन नाम घर का पता है, तो वेब होस्टिंग वास्तविक घर है जिसे यह पता बताता है। इंटरनेट पर सभी वेबसाइटों वेब हास्टिग की आवश्यकता है। जब कोई ब्राउजर में एक डोमेन नाम दर्ज करता है, तो डोमेन नाम वेब हास्टिग कंपनी के कंप्यटर के आईपी पते में अनुवादित होता है। इस कंप्यूटर में वेबसाइट की फाइलें हैं, और यह उन फाइलों को उपयोगकर्ताओं के ब्राउजर में वापस भेजती है। वेब होस्टिंग कंपनियाँ वेबसाइटों क भंडारण और सेवा करने में विशेषज्ञ होती हैं। वे अपने ग्राहकों को विभिन्न प्रकार की होस्टिंग योजनाएं प्रदान करते हैं।

डोमेन नाम सम्बन्धी तकनीकी समस्याएँ

(Domain Name Technical Problems) 

(a) क्या संगठन डोमेन नाम को एक अलग कंपनी में स्थानांतरित कर सकता है? हाँ, संगठन ऐसा कर सकते हैं। आम तौर पर जब फर्म डोमेन नाम को पंजीकृत करता है, तो फर्म इसका उपयोग करने और इसे कहीं भी स्थानांतरित करने का अधिकार रखता है। उदाहरण के लिए, मान मक संगठन ने गोडैडी से डोमेन नाम खरीदा और ब्लूहोस्ट से होस्टिग खरीदी। अब फर्म डोमेन नाम को ब्लूहोस्ट पर ले जाना चाहती है, ताकि इसे प्रबंधित करना और नवीनीकृत करना आसान हो। फर्म आसानी से ऐसा कर सकती है। (ख) क्या संगठन वेबसाइट को बिना परिवर्तन के किसी अन्य वेब होस्टिंग कंपनी में स्थानांतरित कर सकता है? हां, संगठन ऐसा कर सकता है। फर्म डोमेन नाम का मालिक है और इसे किसी भी वेब होस्टिंग कंपनी को इंगित करने के लिए अपनी सेटिंग्स बदल सकता है। उदाहरण के लिए, संगठन ने गोडैडी से डोमेन नाम और होस्टिंग खरीदी और अब फर्म वेब होस्टिग को ब्लूहोस्ट में स्थानांतरित करना चाहती है। फर्म फाइलों और डेटा को स्थानांतरित करके वेबसाइट को एक होस्ट से दूसरे में ले जा सकती है। इसके बाद संगठन को डोमेन नाम सेटिंग्स को संपादित करने और उनहें अपने नए वेब होस्टिग प्रदाता को प्रदान करने की आवश्यकता है।

एक रणनीतिक डोमेन नाम का चयन

(Choosing a Strategic Domain Name) 

डोमेन नाम को चुनना दीर्घकालिक रणनीतिक निवेश है। ऑनलाइन स्टोर लॉन्च करने के इच्छक व्यवसायों के लिए डोमेन नाम चुनने के लिये कुछ सुझाव निम्नलिखित हैं: (a) डोमेन नाम ब्रांड का पर्याय है (Domain Name is Synonymous of Brand) : जो भी डोमेन नाम संगठन चुनता है, उसे संगठन के शब्द चिन्ह (logo) और समग्र सौंदर्य के साथ अच्छी तरह से काम करने की आवश्यकता होती है। (b) इसे छोटा रखें (Keep it short) : डोमेन नाम जितना छोटा होगा, उतना ही अच्छा होगा (c) भाषाई मनोविज्ञान में टैप करें (Tap into Linguistic Psychology) : सही वर्तनी (spelling) का प्रयोग करें, हाइफन से बचें और डोमेन नाम में संख्याओं का उपयोग न करने का प्रयास करें। (d) ऐसा डोमेन नाम चुनें जो SEO में मदद करता है (Choose a Domain Name that Helps SEO) : एक ऑनलाइन स्टोर के लिए SEO महत्वपूर्ण है। SEO यह देखता है कि संगठन कैसे फ्री ट्रैफिक चलाएगा। डोमेन के साथ एसईओ को अधिकतम करने के लिए, प्रासंगिक रहना, कीवर्ड का उपयोग करना और यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि उप-डोमेन के बजाय संगठन सबफोल्ड का उपयोग करता है।

Follow Me

Facebook

B.Com 1st 2nd 3rd Year Notes Books English To Hindi Download Free PDF

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*