Market Segmentation MCQ – B.Com 3rd Year Principal Of Marketing

Market Segmentation MCQ B.Com 3rd Year Principal Of Marketing :- This Post has Study Notes Of All Subject of BCOM 1st 2nd 3rd Year Study Material Notes Sample Model Practice Question Answer Mock Test Paper Examination Papers Notes Download Online Free PDF This Post Contains All Subjects Like BCOM 3rd Year Corporate Accounting, Auditing, Money and financial System, Information Technology and its Application in Business, Financial Management, Principle of Marketing, E-Commerce, Economic Laws, Unit Wise Chapter Wise Syllabus B.COM Question Answer Solved Question Answer papers Notes Knowledge Boosters To illuminate The learning.



बहुविकल्पीय प्रश्न 

  1. “बाजार विभक्तिकरण बाजारों को टुकड़ों में विभाजित करने की रीति-नीति है, ताकि उस पर विजय प्राप्त की जा सके।” यह कथन हैं।

(अ) डावर का

(ब) राबर्ट का 

(स) स्टेण्टन का

(द) पीयर्स का 

  1. “उत्पाद विभिन्नीकरण तथा बाजार विभक्तिकरण वैकल्पिक विपणन व्यहूरचना है।” यह कथन हैं।

(अ) स्टिल का

(ब) डावर का 

(स) स्मिथ का

(द) कोटलर का 

  1. बाजार विभक्तिकरण हैं।

(अ) वितरक केन्द्रित

(ब) उपभोक्ता केन्द्रित 

(स) श्रमिक केन्द्रित

(द) उपरोक्त सभी 

  1. बाजार विभक्तिकरण का प्रमुख उद्देश्य है

(अ) ग्राहकों का समूहीकरण

(ब) वितरकों का समूहीकरण 

(स) उत्पादकों का समूहीकरण 

(द) निर्माताओं का समूहीकरण

  1. बाजार विभक्तिकरण-

(अ) वस्तुओं की किस्म में सुधार करता है 

(ब) मूल्यों को नियन्त्रित करता है

(स) प्रतियोगिता को कम करता है 

(द) विक्रय संवर्द्धन में सहायक है 

  1. निम्नलिखित में से कौन बाजार विखण्डन का मनोवैज्ञानिक आधार है-

(अ) परिवार का आकार

(ब) धर्म 

(स) आय

(द) जीवन शैली

  1. निम्नलिखित में से कौन बाजार विभक्तिकरण का भौगौलिक आधार है-

(अ) आयु

(ब) शिक्षा 

(स) लिंग

(द) जलवायु 

  1. निम्नलिखित में से कौन बाजार विभक्तिकरण का जनांकिकी आधार है-

(अ) आयु

(ब) लिंग 

(स) शिक्षा

(द) उपरोक्त सभी 

  1. संस्था के पास सीमित संसाधन होने पर निम्न में से कौन-सी विपणन व्यूह रचना को अपनाना उपयोगी होगा-

(अ) अभेदित अथवा विभेट विहीन विपणन व्यूह रचना 

(ब) भेदित या विभेदीकृत विपणन व्यूह रचना

(स) संकेन्द्रित विपणन व्यूह रचना 

(द) इनमें से कोई नहीं 

  1. जब संस्था अनेक प्रकार के उत्पादों का निर्माण एवं विपणन करती हो तो निम्नलिखित में से कौन-सी विपणन व्यूह रचना को अपनाना उपयोगी होगा-

(अ) अभेदित या विभेदविहीन विपणन व्यूह रचना 

(ब) भेदित या विभेदीकृत विपणन व्यूह रचना

(स) संकेन्द्रित विपणन व्यूह रचना 

(द) इनमें से कोई नहीं

  1. बाजार विभक्तिकरण हित में हैं-

(अ) उपभोक्ता के 

(ब) व्यापारी के 

(स) निर्माता के

(द) सभी के

  1. बाजार विभक्तिकरण है

(अ) आवश्यक 

(ब) अनावश्यक 

(स) धन की बर्बादी

(द) समय की बर्बादी

  1. निम्नलिखित समूहों में आय विभक्तीकरण किसको लक्षित करता हैं।

(अ) धनी वर्ग

(ब) मध्यम वर्ग 

(स) निम्न आय वर्ग

(द) उपर्युक्त सभी 

  1. निम्नलिखित में कौन-सा मनोवैज्ञानिक निर्धारक नहीं है? 

(अ) उत्प्रेरणा

(ब) प्रत्यक्ष ज्ञान

(स) व्यक्तित्व

(द) जीवन-स्तर स

  1. बाज़ार विभक्तिकरण के लिए किन आधारों का प्रयोग किया जाता है?

(अ) सामाजिक-आर्थिक

(ब) भौगोलिक 

(स) मनोवैज्ञानिक

(द) उपरोक्त सभी 

  1. “बाजारों का वर्गीकरण ग्राहकों की विशेषताओं के आधार पर विभिन्न तरीकों से किया जा सकता है।” बाजार विभक्तिकरण के सम्बन्ध में यह कथन किसका हैं।

(अ) फिलिप कोटलर

(ब) आर० एस० डावर 

(स) विलियम जे० स्टेन्टन

(द) इनमें से कोई भी नहीं 

  1. बाजार विभक्तिकरण के आधार होते हैं

(अ) सामाजिक-आर्थिक तत्व  

(ब) शैक्षिक-स्तर 

(स) मनोवैज्ञानिक तत्व

(द) उपरोक्त सभी 

  1. भेदित विपणन रीति-नीति को ……… भी कहते है

(अ) संकेन्द्रित विपणन रीति-नीति 

(ब) द्रवित विपणन रीति-नीति 

(स) बाजार का पृथक्कीकरण

(द) बाजार का एकीकरण। 

  1. जब कोई निर्माता सम्पूर्ण बाजार के लिए कोई एक उत्पाद ही प्रस्तुत करता है तो इसे क्या कहा जाता है? 

(अ) बाजार पृथक्कीकरण

(ब) बाजार एकीकरण 

(स) एकल उत्पाद नीति

(द) एकरूप विपणन 

  1. बाजार एकीकरण किस परिस्थिति में लाभकारी होता है? 

(अ) आवश्यक उत्पाद

(ब) आरामदायक उत्पाद 

(स) विलासिता उत्पाद

(द) परम् आवश्यक उत्पाद 

  1. “बाजार विभक्तिकरण में सम्पूर्ण सम्भावित ग्राहकों को उनकी विशिष्ट विशेषताओं के आधार पर विभिन्न वर्गों में विभाजित किया जाता है।” यह कथन हैं।

(अ) सत्य

(ब) असत्य 

(स) अस्पष्ट

(द) उलझावपूर्ण 

  1. अभेदित विपणन रीति-नीति को ………. के नाम से भी जाना जाता है

(अ) बाजार एकीकरण

(ब) बाजार पृथक्कीकरण को 

(स) बाजार विभक्तिकरण

(द) बाजार सम्मिश्रण 

  1. बाजार विभक्तिकरण हित में हैं।

(अ) सरकार

(ब) निर्माता, व्यापारी 

(स) उपभोक्ता

(द) उपरोक्त सभी 

  1. उत्पाद विभेदीकरण हैं।

(अ) बाजार भिन्नता

(ब) उत्पाद भिन्नता 

(स) उपरोक्त दोनों

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. AIO’ जीवन शैली में विखण्डन, सामाजिक समस्याएँ, शिक्षा तथा संस्कृति हैं।

(अ) क्रियाएँ

(ब) स्वार्थ/हित 

(स) विचार

(द) उपरोक्त से कोई नहीं 

  1. आर्थिक, सामाजिक, प्रतियोगिता, उपभोक्ता की आयु, आय, शिक्षा और उपयोग का तरीका आदि आधार हो सकते हैं।

(अ) बाजार विभक्तिकरण

(ब) विपणन 

(स) बाजार

(द) विज्ञापन 

  1. बाजार विखण्डन, विपणन की नई परिकल्पना के साथ में प्रकट हुआ-

(अ) 1930 वर्ष

(ब) 1940 वर्ष

(स) 1950 वर्ष

(द) 1960 वर्ष  

  1. जब कम्पनी एक उत्पाद-सभी खण्ड नियम का अनुसरण करती है, तो वह हैं।

(अ) अविभेदीकृत विपणन

(ब) विभेदीकृत विपणन 

(स) संघनित विपणन

(द) उपर्युक्त सभी।

  1. हिन्दस्तान लीवर लिमिटेड जो कई प्रकार के साबुन बेचती है (लाइफबॉए, लक्स और

लिरिल, पीयर्स आदि) तथा उनमें प्रत्येक का अपना बाजार है। यह उदाहरण है एक…..का-

(अ) अविभेदीकृत विपणन

(ब) विभेदीकृत विपणन 

(स) संघनित विपणन

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. धनपत राय तथा कम्पनी ग्राहकों की हर प्रकार की आवश्यकताओं के अनुसार पर छापती तथा बेचती है-प्रतियोगिताशील पुस्तकें, स्कूलों, कॉलेजों तथा विश्वविद्यालयों। लिये पुस्तकें यह उदाहरण हैं।

(अ) बाजार विशेषीकरण

(ब) उत्पाद विशेषीकरण 

(स) उपर्युक्त दोनों

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. एक बाजार जिसमें अतुल्य उत्पाद आवश्यकताओं वाले लोग सम्मिलित हैं।

(अ) समजातीय बाजार

(ब) विषमजातीय बाजार 

(स) उपर्युक्त में कोई नहीं

(द) उपर्युक्त दोनों 

  1. आक्रामकता, प्रतिष्ठा, सचेतता, सामाजिकता, प्राप्ति, अल्पव्ययता तथा प्रेरणा, सभी …से सम्बन्धित तत्त्वों को मापने के परीक्षण प्रयास हैं।

(अ) जीवन-चक्र

(ब) कार्यशीलता 

(स) स्वार्थ

(द) व्यक्तित्व 

  1. विखण्डन जोकि कपड़ों, बाल संवारने तथा प्रसाधन सामग्री पर लागू होता है ……आधारित हैं।

(अ) लिंग

(ब) आय 

(स) सामाजिक वर्ग

(द) संस्कृति 

  1. लक्षित बाजार की तकनीक को कौन दर्शाता हैं।

(अ) बाजार संगठन

(ब) उपभोक्ता का स्वभाव 

(स) बाजार की समाकलनता

(द) उत्पाद निर्णय 

  1. बाजार विखण्डन …….. की युक्ति हैं।

(अ) विपरीत विखण्डन

(ब) अतिरिक्त विखण्डन 

(स) उत्पद विभेदीकरण 

(द) संघनित विपणन ।

  1. बाजार विखण्डन क्रेताओं को ……. में वर्गीकृत करने की प्रक्रिया है

(अ) समान आवश्यकताओं वाली एक श्रेणी

(ब) समान आवश्यकताओं वाली विभिन्न श्रेणियाँ

(स) विभिन्न आवश्यकताओं वाली एक श्रेणी

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. उत्पाद विभेदीकरण, माँग को …….. की ओर झुकाने का एक प्रयत्न हैं।

(अ) विपणन युक्ति

(ब) पूर्ति की इच्छा 

(स) बाजार विखण्डन

(द) उत्पाद विभेदीकरण 

  1. निम्नलिखित में से कौन एक विपणन युक्ति नहीं हैं।

(अ) संघनित विपणन

(ब) अविभेदीकृत विपणन 

(स) विभेदीकृत विपणन

(द) बौद्धिक विपणन 

  1. क्रेता जो हमेशा एक ही ब्राण्ड की वस्तुएँ खरीदते हैं।

(अ) विशेष निष्ठा

(ब) तीव्र निष्ठा 

(स) परिवर्तनशील निष्ठा

(द) उपर्युक्त में कोई नहीं 

  1. जब कम्पनी का उत्पाद, एक खण्ड के नियम का पालन करती है तो यह हैं।

(अ) अविभेदीकृत विपणन

(ब) विभेदीकृत विपणन 

(स) संघनित विपणन 

(द) उपरोक्त सभी

  1. एक बाजार जो भिन्न उत्पाद के साथ व्यक्ति की जरूरत पूरी करते हैंं।

(अ) सजातीय बाजार

(ब) विजातीय बाजार 

(स) उपरोक्त दोनों

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं

  1. विखण्डन ……….. के आधार पर किया जा सकता हैं।

(अ) उत्पाद

(ब) कीमत 

(स) भौगोलिक स्थिति

(द) माप योग्यता 

  1. निम्नलिखित में से कौन-सा बाजार विभक्तिकरण का लाभ हैं।

(अ) साधनों का उचित वितरण

(ब) ग्राहक सन्तुष्टि में वृद्धि 

(स) विपणन अवसरों में वृद्धि

(द) उपरोक्त सभी 

  1. निम्नलिखित में से बाजार विभक्तिकरण की कौन-सी रीति ग्राहक अभिमुखी हैं।

(अ) अभेदित विपणन रीति

(ब) भेदित विपणन रीति 

(स) संकेन्द्रित विपणन रीति

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. अभेदित विपणन रीति का लाभ नहीं हैं।

(अ) उत्पाद लागत में कमी

(ब) ग्राहक सन्तुष्टि में वृद्धि 

(स) विपणन अनुसंधान व्ययों में मितव्ययिता 

(द) उपरोक्त सभी 

  1. भेदित विपणन रीति का लाभ नहीं है

(अ) विक्रय में वृद्धि 

(ब) प्रत्येक बाजार खण्ड की गहराई तक पहुँचना

(स) लागतों में कमी 

(द) ग्राहक अभिमुखी होना 

  1. जब फर्म का आकार छोटा तथा वित्तीय साधन सीमित हों तो बाजार विभक्तिकरण की कौन-सी रीति उपयुक्त रहती हैं।

(अ) भेदित विपणन रीति

(ब) अभेदित विपणन रीति 

(स) संकेन्द्रित विपणन रीति

(द) उपयुक्त सभी 

  1. एक बाजार जिसमें समान आवश्यकताओं वाले व्यक्ति सम्मिलित हैं, को कहते हैं।

(अ) समजातीय बाजार

(ब) विषमजातीय बाजार 

(स) उपरोक्त (अ) व (ब) दोनों 

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. बाजार विभक्तिकरण किस आधार पर किया जा सकता हैं।

(अ) उत्पाद

(ब) कीमत 

(स) भौगोलिक स्थिति

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

  1. बाजार विभक्तिकरण का मुख्य उद्देश्य है

(अ) उपभोक्ताओं का समूहीकरण 

(ब) वितरकों का समूहीकरण

(स) उत्पादकों का समूहीकरण 

(द) उपरोक्त में कोई नहीं 

  1. जनांकिकी अध्ययन हैं।

(अ) लोगों की जनसंख्या का

(ब) लोगों की संस्कृति का 

(स) उपरोक्त (अ) व (ब) दोनों 

(द) उपरोक्त में कोई नहीं 

  1. बाजार विभक्तिकरण होता है-

(अ) उपभोक्ता केन्द्रित

(ब) वितरक केन्द्रित 

(स) उत्पादक केन्द्रित

(द) उपरोक्त में कोई नहीं 

  1. कौन-सी प्रभावी बाजार विभक्तिकरण की आवश्यकताएँ हैं।

(अ) पहचान

(ब) मापन योग्यता 

(स) पर्याप्त आकार

(द) ये सभी 

  1. निम्न रीति-नीति बाजार विभक्तिकरण से सम्बन्धित हैं।

(अ) अभेदित

(ब) भेदित 

(स) संकेन्द्रित

(द) उपर्युक्त सभी

  1. बाजार विभक्तिकरण रीति-नीति का मुख्य उद्देश्य है

(अ) समस्त बाजार की विशेष सेवा 

(ब) सीमित बाजार की विशेष सेवा

(स) समस्त बाजार की सामान्य सेवा 

(द) सीमित बाजार की सामान्य सेवा 

  1. कौन-सी विपणन विभक्तिकरण की रणनीति नहीं है?

(अ) भेदभावपूर्ण विपणन रणनीति 

(ब) भेदभावहीन विपणन रणनीति 

(स) केन्द्रित विपणन रणनीति 

(द) विक्रय विपणन रणनीति

  1. बाजार का विभक्तिकरण …… आधार पर किया जा सकता हैं।

(अ) केवल भौगोलिक

(ब) केवल मनोवैज्ञानिक 

(स) केवल जनांकिकी

(द) उपरोक्त सभी 

  1. कौन-सा आधार औद्योगिक बाजार विभक्तिकरण का नहीं है? 

(अ) उपभोक्ता का आकार

(ब) भौगोलिक विभाजन 

(स) व्यवसाय की प्रकृति

(द) व्यवसाय की जाति 

  1. कौन-सा आधार उपभोक्ता बाजार विभक्तिकरण का नहीं है? 

(अ) आयु

(ब) लिंग 

(स) शिक्षा

(द) व्यवसाय की प्रकृति 

  1. जनांकिकी बाजार विभक्तिकरण के आधार में शामिल है

(अ) केवल परिवार का आकार 

(ब) केवल राष्ट्रीयता 

(स) केवल सामाजिक जाति

(द) उपरोक्त सभी


Follow Me

Facebook

[PDF] B.Com 1st Year All Subject Notes Question Answer Sample Model Practice Paper In English

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*